जानिए क्यों देखें फिल्म सूरमा

सूरमा स्टारकास्ट: दिलजीत दोसांझ, तापसी पन्नू, अंगद बेदी, विजय राज, कुलभूषण खरबंदा

फिल्म रिव्यु

आजकल बॉलीवुड में बायोपिक का मौसम चल रहा हैं, पहले संजय दत्त की बायोपिक और अब निर्देशक शाद अली लेकर आए हैं खिलाड़ी संदीप सिंह की बायोपिक ‘सूरमा’. इस फिल्म को देखने के बाद आपको महसूस होगा की संदीप सिंह की ज़िन्दगी कितने उतार-चढ़ाव से गुजारी हैं और जो खिलाड़ी एक बार पैरालाइज्ड होने के बाद भी खुद को अपने पैरों पर खड़ा किया हो तो उसकी ज़िन्दगी कितनी प्रेरणादायक होगी. ये एक उभरते हुए खिलाड़ी की कहानी हैं, जिससे बाहर निकल पाना हर किसी के बस की बात नहीं. एक हादसा जिसने वर्ल्डकप खेलने जा रहे एक उभरते हुए खिलाड़ी को इतना लाचार बना दिया कि उसकी दुनिया  हॉस्पिटल के बेड तक सिमट कर रह गई. चलना, टहलना तो दूर करवट बदलने में भी दूसरों के सहारे की दरकार थी. लेकिन संदीप सिंह की हॉकी खेलने की चाहत ने उन्हें इस असंभव काम को संभव कर दिखाया.

फिल्म की कहानी

हरियाणा के साहबाद में जन्मे संदीप सिंह भारतीय राष्ट्रीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान रह चुके हैं. उन्हें दुनिया के सबसे खतरनाक ड्रैग-फ्लिकर में से एक माना जाता है, जिनके ड्रैग की स्पीड 145 किलोमीटर प्रतिघंटा है और उनकी इस शानदार स्पीड के चलते उन्हें ‘फ्लिकर सिंह’ के नाम से  भी जाना जाता है. वैसे तो उन्हें बचपन से हॉकी का कोई शौक नहीं था लेकिन अपने प्यार को पाने के लिए उन्होंने इतनी मेहनत की कि उनका सेलेक्शन टीम इंडिया में हुआ. वर्ल्ड कप खेलने जाते समय उनके साथ एक हादसा होता है और वो पैरालाइज्ड हो जाते हैं. लेकिन वो ज़िंदगी से हार नहीं मानते और दोबारा अपनी हिम्मत के दम पर एक दमदार वापसी करते हैं. ये कैसे मुमकिन हुआ. ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी. इसमें उनकी ज़िंदगी के दो पहलुओं को दिखाया गया है. एक समय जब वह व्हीलचेयर पर थे और दूसरा जब वो हॉकी खेलने के लिए ग्राउंड पर थे.

एक्टिंग

फिल्म सूरमा में संदीप सिंह का किरदार पंजाबी सिंगर और एक्टर दिलजीत दोसांझ ने निभाया है. दिलजीत अपनी शानदार अभिनय के लिए जाने जाते हैं, फिर चाहे वो रोल बड़ा हो या छोटा इससे पहले भी फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ और ‘फिल्लौरी’ में भी उन्होंने अपने अभिनय की छाप छोड़ी हाँ. और इस फिल्म में भी उन्होंने अपने हर सीन में जान डालने की भरपूर कोशिश की हैं और जिसमें वो सफल भी रहें हैं.

इसके अलावा तापसी पन्नू भी अपने बेहतरीन अभिनय के लिए जानी जाती हैं, लेकिन इस फिल्म में उनके लिए करने के लिए कुछ खास नहीं था. तापसी ने इस फिल्म में हरप्रीत का किरदार निभाया है जो हॉकी प्लेयर है और पहली नज़र में ही संदीप सिंह को उनसे प्यार हो जाता है. फिल्म की शुरुआत में तो वो अपने कैरेक्टर में जमी हैं लेकिन बाद में जैसे ही इमोशनल सीन आते हैं वो कही कही हलकी पड़ती हुई नज़र आ रही हैं.

इस फिल्म में एक और एक्टर जो आपका ध्यान अपनी और आकर्षित करता हैं वो हैं विजय राज. इस फिल्म में बतौर हॉकी कोच विजय राज की भूमिका बेहद अच्छी हैं और उनके डायलॉग्स भी आपको कही कही हँसने पर मजबूर कर देगे.

 

सूरमा फिल्म क्यों देखें

आप ये फिल्म हॉकी के लिए या फिर हॉकी के चैंपियन संदीप सिंह और उनके किए गए संघर्ष के लिए देख सकते हैं जिसे अपने पहले न कभी देखा होगा और न सुना होगा. फिल्म में खेल के कई मोमेंट आपको बेहद पसंद आएगे. बॉलीवुड में पहले भी कई ऐसी बायोपिक बनी हैं जिन्हें पहले तो लोग नहीं जानते थे, लेकिन फिल्म देखने के बाद उनकी हिम्मत की कहानीलोगो के दिमाग में बस जाती हैं. ये फिल्म भी आप पर कुछ ऐसा ही असर कर देगी

Leave a Comment