जानिए आज रिलीज़ हुई फिल्में “परमाणु” और “बॉयोस्कोपवाला” का रिव्यु

आज बॉक्स ऑफिस पर दो फिल्में एक साथ रिलीज़ हुई है और दोनों ही फिल्मों का कांसेप्ट एक दूसरे से बिलकुल अलग है. एक तरफ अभिनेता जॉन अब्राहम की फिल्म “परमाणु: द स्टोरी ऑफ़ पोखरण” है जो देश भक्ति की याद दिलाती है. वही दूसरी और अभिनेता डैनी की फिल्म “बॉयोस्कोपवाला” है जो हमारे बचपन की याद दिलाता है. इस फिल्म से डैनी काफी लम्बे समय के बाद पर्दे पर नज़र आ रहे है. हम आपके साथ दोनों ही फिल्मों का रिव्यु शेयर करेंगे.

“परमाणु – द स्टोरी ऑफ़ पोखरण”

निर्देशन : अभिषेक शर्मा

कलाकार : जॉन अब्राहम, डायना पेंटी और बोमन ईरानी

कहानी

परमाणु की कहानी की शुरुआत 1995 से होती है यह एक सच्ची घटना पर आधारित फिल्म है. इस फिल्म मे परमाणु परिक्षण की कहानी को बहुत ही खूबसूरती के साथ दिखाया गया है. पीएमओ के एक जूनियर ब्यूरोक्रेट अश्वत रैना (जॉन अब्राहम) भारत के परमाणु परीक्षण पर एक रिपोर्ट तैयार करके सरकार को देते हैं. लेकिन उस रिपोर्ट को पूरी तरह से नहीं पढ़ पाने के कारण से वह परमाणु मिशन पूरा नहीं हो पाता है. इस मिशन के असफल होने का पूरा इलज़ाम अश्वत पर आ जाता है. जबकि अश्वत की बनाई रिपोर्ट को किसी ने भी ठीक से नहीं पढ़ा था और कई चीजों को नजरअंदाज कर दिया था. इस वजह से अश्वत को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ता है और दिल्ली से वह मसूरी चला जाता है. अश्वत वहां कॉलेज के लड़कों को पढाना शुरू कर देता है और इसी तरह पैसा कमाता है. जब दिल्ली मे सरकार बदलती है तब परमाणु की बात फिर से सामने आती है और इस बार अश्वत को वहां पर बुलाकर उसका नेतृत्व करने के लिए कहा जाता है. अश्वत के टीम बनाता है और राजस्थान मे अपना डेरा पोखरण मे डालता डालता है. वहां पर उनका सामना अमेरिकन सटेलाइट से होती है और अंत मे मिशन कामयाब होता है. इस फिल्म की कहानी को बहुत ही अच्छे तरीके से दिखाया गया है. अभिषेक शर्मा का निर्देशन बहुत ही कमाल का है. जॉन अब्राहम ने भी इस फिल्म के लिए बड़ी मेहनत करी है. कुछ जगहों पर उनके एक्सप्रेशन कमजोर लगे है. पर फिर भी अपने इंटेंस लुक मे वह छा गए है. डायना पेंटी ने भी अपने किरदार के साथ जस्टिस किया है. मिशन को सुरक्षा देने के किरदार को उन्होंने बड़ी ईमानदारी से निभाया है. बोमन ईरानी ने फिर एक बार अपने एक्टिंग का जलवा इस फिल्म मे दिखा ही दिया है. इस फिल्म को देख कर आपको कुछ ऐसी बातों का पता चलेगा जो हर हिन्दुस्तानी के लिए जानना बहुत ज़रूरी है. फिल्म मनोरंजन के साथ साथ आपको जानकारी देती भी नज़र आएगी.

बॉयोस्कोपवाला

निर्देशन : देब मधेकर

कलाकार : डैनी डेन्जोंगपा, गीतांजलि थापा, आदिल हुसैन, टिस्का चोपड़ा, ब्रिजेंद्र काला

कहानी

फिल्म बॉयोस्कोप वाला रवीन्द्रनाथ टैगोर जी की प्रसिद्ध कहानी “काबुलीवाला” पर आधारित है. इस फिल्म मे आप काफी लम्बे समय के बाद अभिनेता डैनी को बड़े पर्दे पर देखेंगे. फिल्म के निर्देशक ने फिल्म को आज के मुताबिक़ बनाने का प्रयास किया है. इस फिल्म में फैशन स्टाइलिस्ट मिनी बासु (गीतांजलि थापा) अपने पापा रोबी बासु (आदिल हुसैन) के साथ कोलकाता में रहती है, जो कि एक जाने-माने फैशन फटॉग्रफर हैं। बाप-बेटी का रिश्ता अच्छा नहीं है और इसी बीच एक दिन रोबी की कोलकाता से काबुल जाने वाले हवाई जहाज की दुर्घटना में मौत हो जाती है. तभी मिनी का घरेलू नौकर भोला (ब्रिजेंद्र काला) उसे घर आए नए मेहमान रहमत खान (डैनी डेन्जोंगपा) से मिलवाता है. रहमत को मिनी के पिता ने जेल से निकलवाया होता है. जो की जेल मे एक हत्या के इलज़ाम मे बंद होता है. पहले मिनी रहमत से नाराज़ रहती है लेकिन बाद मे उसको पता चलता है कि रहमत कोई और नहीं बल्कि वही बॉयोस्कोपवाला है जो बचपन मे उसको कहानियाँ सुनाया करता था. बचपन मे एक बार उसने मिनी की जान भी बचाई थी. अब मिनी फिल्म मे यह पता लगाने की कोशिश करती है कि क्या सच मे रहमत खुनी है या उस पर कोइ झूठा इलज़ाम लगा हुआ है. इस फिल्म को देख कर आपको अपने बचपन की याद ज़रूर आ जाएगी. फिल्म मे सभी कलाकारों ने की भूमिका को बहुत ही अच्छे तरीके से निभाया है. यह फिल्म सच मे बाकी फिल्मों से हटकर है. आप अपने पूरे परिवार के साथ इस फिल्म का मज़ा ले सकते है.

Leave a Comment